केदारनाथ कैसे पहुंचे: मंदाकिनी नदी के तट पर स्थित है बाबा केदार

केदारनाथ मन्दिर समुद्र तल से 3584 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। जो की उत्तरी भारत में पवित्र तीर्थस्थलों में से एक है। इस लेख में जाने- “केदारनाथ कैसे पहुंचे”

उत्तराखंड राज्य के रुद्रप्रयाग जिले में हिन्दुओं का प्रसिद्ध मंदिर श्री केदारनाथ धाम स्थित है। मन्दाकनी नदी के तट पर स्थित यह विश्व प्रसिद्ध मंदिर भगवान भोलेनाथ के बारह ज्योतिर्लिंग में से एक है।

उत्तरी भारत में पवित्र तीर्थस्थलों में से एक केदारनाथ मन्दिर साल में सिर्फ़ छह माह के लिए ही खुला रहता है। प्रत्येक वर्ष विधि- विधान के साथ अप्रैल माह में विश्व प्रसिद्ध बाबा केदार के कपाट खोले जाते है और भाई दूज के पावन पर्व पर मंदिर के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिए जाते है। बंद होने के बाद बाबा केदार की डोली शीतकालीन गद्य स्थल ओंकारेश्वर मंदिर, ऊखीमठ में रखी जाती है।

प्रत्येक वर्ष लाखों की संख्या में यहां श्रद्धालु भगवान शिव जी के दर्शन करने के लिए आते है। जिसके चलते अधिक लोगों के मन में यात्रा को लेकर कई प्रकार के सवाल उमड़ते रहते है जैसे की- केदारनाथ कैसे पहुंचे, कब जाए, कितना खर्चा आएगा, आदि। आज के इस लेख में हम आपको केदारनाथ यात्रा से जुड़ी एहम जानकारियाँ प्रदान करेंगे जिसके द्वारा आप आसानी से केदारनाथ यात्रा कर सकते है।

केदारनाथ कैसे पहुंचे

आप जहां के भी रहने वाले हो, सबसे पहले आप अपने घर से उत्तराखंड के ऋषिकेश शहर तक पहुंच जाए। ऋषिकेश शहर से आपको केदारनाथ धाम जाने के लिए हर तरीके के वाहन उपलब्ध हो जाएंगे। अगर आप सार्वजनिक परिवहन(Public Transport) जाना चाहते है तो उसकी भी पूरी सुविधाएँ उपलब्ध है।

ऋषिकेश से सुबह- सुबह आपको छोटी गाड़ियाँ(Maxx, Bolero,etc) व बस पकड़नी पड़ेगी। जो की आपको गुप्तकाशी उतारेंगी। यह वाहन आपको सुबह ऋषिकेश के नटराज चौक, चंद्रभागा पुल एवं त्रिवेणी घाट बाज़ार के सामने स्थित भगवान आश्रम के सामने पर मिल जाएंगे।

जब आप गुप्तकाशी पहुंच जाएंगे तो वहां से आपको सोनप्रयाग की गाड़ी पकड़नी होगी। गुप्तकाशी से सोनप्रयाग के लिए आपको आसानी से गाड़ी मिल जाएंगी।

अब सोनप्रयाग से आपको गौरीकुंड तक के लिए दूसरी गाड़ी लेनी पड़ेगी। जहां से आपकी पैदल यात्रा शुरू होगी।

गौरीकुंड से आपको केदारनाथ मंदिर तक पहुँचने के लिए 21 km की पैदल यात्रा करनी होगी। अगर आप पैदल चलने में असमर्थ है तो आपके लिए यहां खच्चर व पालकी की सुविधाएं भी उपलब्ध है।

यह भी पढ़े- केदारनाथ मंदिर: उत्तर दिशा से महादेव का निमंत्रण आया है

FAQs

Q1- ऋषिकेश से गुप्तकाशी तक बस का कितना किराया है?
Ans1- 450 रुपये।

Q2- गुप्तकाशी से सोनप्रयाग तक का किराया कितना है?
Ans2- 100 रुपये।

Q3- सोनप्रयाग से गौरीकुंड तक का किराया कितना है?
Ans3- 50 रुपये।

Q4- केदारनाथ पैदल मार्ग के लिए हेलीकॉप्टर की सुविधा कहां- कहां से उपलब्ध है?
Ans4- Phata, Sersi और Sitapur में हैलीपैड है। जहां से आपको केदारनाथ मंदिर तक के लिये हेलीकॉप्टर मिलेंगे।

Q5- केदारनाथ धाम के लिए हेलीकॉप्टर की टिकट कहां से बुक करें?
Ans5- https://heliservices.uk.gov.in

इसके अलावा आपको केदारनाथ यात्रा से जुड़ी कुछ भी जानकारियाँ चाइए हो तो हमको नीचे कमेंट बॉक्स में बताए। आपको अगर गाड़ी व बस वालों के नंबर, होटल व गेस्ट हाउस वालों के नंबर चाइए हो तो आप हमसे नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। यहां आपकी हर प्रकार से सहायता की जाएगी।

Leave a comment