ग्राम सिलोगी: चार माह से लापता पौड़ी गढ़वाल की महिला को पुलिस ने मध्य प्रदेश से किया बरामद

ग्राम सिलोगी: उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल से करीब चार माह पूर्व लापता विवाहिता को पुलिस ने मध्य प्रदेश से बरामद किया। महिला अपने घर से बहार दवाई लेने निकली थी और अचानक वह गायब हो गई थी।

मिली जानकारी के अनुसार, 27 फरवरी 2022 को राजेश प्रसाद निवासी ग्राम सिलोगी, जनपद पौड़ी गढ़वाल ने राजस्व पुलिस चौकी जाखणी खाल में FIR दर्ज करते हुए बताया कि 26 फरवरी 2022 को उनकी पत्नी घर से दवाई लेने चैल्यूसैण गई थी और वहाँ से घर वापस नहीं लौटी। काफी खोजबीन के बाद भी महिला का कुछ भी पता नहीं चल पाया था।

वहीं इस संबंध में राजस्व पुलिस चौकी जाखणी खाल में मुकदमा दर्ज किया गया। इस मामले की गंभीरता को देखते हुए यह मामला रेगूलर पुलिस को स्थानांतरित किया गया। जिसके बाद से प्रभारी निरीक्षक मणीभूषण श्रीवस्तव के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया। और गठित टीम द्वारा ठोस पतारसी सुरागरसी कर अथक प्रयास से लापता महिला श्रीमती विनीता देवी को दिनांक 26 जून 2022 को ग्राम शंकरपुर थाना माता बसैया जिला मुरैना मध्यप्रदेश से सकुशल बरामद कर माननीय न्यायालय के समक्ष पेश कर आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।

यह भी पढ़े- नारायणकोटी: 24 वर्षीय नवविवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

धोखाधड़ी: हरिद्वार में जिला जज के खाते से उड़ाए लाखों

उत्तराखंड के हरिद्वार जिला एवं सत्र न्यायालय में अपर जिला जज अनिरुद्ध भट्ट के मोबाइल पर अनजान नंबर से एक व्हाट्सएप मैसेज आया था। जिसमें उनके एक परिचित का नाम लेकर उनसे ₹10000 के अमेजॉन पे गिफ्ट कार्ड मांगे और पैसा शाम तक वापस करने की बात लिखी थी। अपर जिला जज ने गिफ्ट कार्ड खरीद कर उसका लिंक व्हाट्सएप पर मैसेज कर दिया। और फिर इसके कुछ समय बाद ही जिला जज के खाते से अचानक डेढ़ लाख रुपए गायब हो गए।

जब उन्होंने इस मामले में अपने परिचित से जानकारी ली तो पता चला कि उनके द्वारा कोई भी ऐसा मैसेज नहीं भेजा गया था। जब इस नंबर की जांच की गई तो वह फर्जी निकला। जिसके बाद से इस मामले में सिडकुल थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। इंस्पेक्टर सिडकुल प्रमोद उनियाल ने बताया कि धोखाधड़ी की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और इसकी जांच भी शुरू कर दी गई है।

Leave a comment